Find us on facebook

Sunday, January 5, 2014


किसी से ईर्ष्या करके मनुष्य 
उसका कुछ बिगाड़ नहीं सकता है
पर अपनी नींद और सुख चैन
अवश्य खो देता है.